आजकल हर कोई अपने घर को सुंदर बनाने के लिए घर में तरह-तरह के तस्वीरें और मूर्तियां रखने लगा है। यह सब वो अपने घर को खूबसबूरत और आकर्षित बनाने के लिए करते हैं। लेकिन बहुत से लोग एेसे हैं जिन्हें इसके बारे में अच्छे से नहीं पता। वास्तु और ज्योतिष की मानी जाए तो किसी भी प्रकार की तस्वीर या मूर्ति को घर में रखने से पहले कुछ बातों का जानना बहुत ज़रूरी है।

वास्तु और ज्योतिष के साथ-साथ हिंदू धर्म के पौराणिक ग्रंथों में भी देवी-देवताओं की प्रतिमाएं को रखने से चमत्कारी प्रभाव देती हैं। इसलिए शास्त्रों में इनकी प्रतिमाओं और तस्वीरों को रखने के बहुत से महत्वपूर्ण नियम बताए गए हैं। वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में देवी-देवताओं की तस्वीरें लगाने से सभी परेशानियां दूर होती हैं और घर में सुख-शांति बनी रहती है। आइए बात करते हैं हनुमान जी के चित्रपट का महत्व और उससे जुड़े कुछ वास्तु नियम-

शास्त्रों के अनुसार हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी हैं और इसी वजह से उनका चित्रपट बेडरूम में न रखकर घर के मंदिर में या किसी अन्य पवित्र स्थान पर रखना शुभ रहता है।

वास्तु वैज्ञानिकों के अनुसार हनुमान जी का चित्र दक्षिण दिशा की ओर देखते हुए लगाना चाहिए क्योंकि हनुमान जी ने अपना प्रभाव अत्यधिक इसी दिशा में दिखाया है जैसे लंका दक्षिण में है, सीता माता की खोज दक्षिण से आरंभ हुई, लंका दहन और राम-रावण का युद्ध भी इसी दिशा में हुआ। दक्षिण दिशा में हनुमान जी विशेष बलशाली हैं।

इसी प्रकार से उत्तर दिशा में हनुमान जी का चित्रपट लगाने पर दक्षिण दिशा से आने वाली हर नकारात्मक शक्ति को हनुमान जी रोक देते हैं। वास्तु अनुसार इससे घर में सुख और समृद्धि का समावेश होता है और दक्षिण दिशा से आने वाली हर बुरी ताकत को हनुमान जी रोक देते हैं।

जिस रूप में हनुमान जी अपनी शक्ति का प्रदर्शन कर रहे हों ऐसे चित्रपट को घर में  लगाने से किसी भी तरह की बुरी शक्ति प्रवेश असंभव है।

Source : Agency