लंदन
अमेरिका की प्रमुख इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी टेस्ला जल्द ही भारत में अपना कारोबार शुरू करने वाली है जिसके लिए बेंगलुरु में अपना पहला प्लांट लगाने के लिए रजिस्ट्रेशन संबधी सभी औपचारिकताओं को पूरा कर लिया है। वैसे तो आपने इस टेस्ला की कारों के बारे में तमाम जगह पढ़ लिया होगा लेकिन क्या आप जानते हैं कि टेस्ला के मालिक एलन मस्क की पसंदीदा कार कौन सी है।

एलन मस्क सिर्फ कार बेचते नहीं हैं वो खुद भी एक कार लवर हैं जिनके पास एक से एक कार का कलेक्शन है। इसमें सबसे प्यारी कार जो उन्होंने बिल्कुल संभाल के रखी हुई है वो है उनकी 1978 BMW320i जो उन्होंने 1994 में सेकेंड हैंड खरीदी थी इस कार को एलन मस्क की पहली कार के रूप में जाना जाता है।

फिर मस्क ने एक सॉफ्टवेयर कंपनी की स्थापना अपने भाई के साथ मिलकर की और उसमें मिलने वाले बोनस से उन्होंने एक 1967 जगुआर ईटाइप कार खरीदी थी। उसके बाद एक और कार खरीदी जो मैकलेरन एफ 1 थी। ऐलन मस्क की सभी कारों में ये इकलौती कार है जिसको मस्क ने सबसे ज्यादा चलाया था।

वर्तमान की बात करें तो उन्होंने अपनी ही एक टेस्ला रोडस्टर कार को मोडिफाई करते हुए उसको स्पेसएक्स फाल्कन हैवी रॉकेट की शक्ल दे दी है। इतना ही नहीं इस कार मैं उन्होंने एक मानव आकृति भी बिठाइ है जिसको स्टार मैन का नाम दिया गया है।

अब बात करें एलन मस्क की सबसे पसंदीदा कार की तो मीडिया की खबरों के मुताबिक वो कार है टेस्ला मॉडल एस और टेस्ला मॉडल एक्स जिनकी शुरुआती कीमत 60 लाख रुपये है जो टॉप मॉडल में पहुंचते 2 करोड़ रुपये तक हो जाती हैं।

एलन मस्क की पसंदीदा कारों में से एक टेस्ला मॉडल एस एक शानदार लुक वाली प्रीमियम कार है जिसका डिजाइन एकदम स्पोर्टी है। कार को 19 और 21 इंच शानदार एलॉय व्हील्स के साथ पेश किया गया है। कार की दूसरी खासियतों की बात करें तो टेस्ला की कार का ऑटो पायलट फीचर पूरी दुनिया में अपनी एक्युरेसी के लिए प्रसिद्ध है।

ऑटो पायलट मोड कार को सुपर प्रीमियम फील देता है। टेस्ला मॉडल एस एक 5 सीटर कार होने के बाद भी तमाम तरह की लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से लैसे है। बात करें इस कार की पावर के बारे में तो ये कार 0 से 100 की रफ्तार को मात्र 2.5 सेकेंड में हासिल कर सकती है। इस कार में 100 किलोवाट की लिथियम बैट्री लगाई गई है जो एक बार फुल चार्ज होने पर 623 किलोमीटर तक चलती है। भारतीय मुद्रा के हिसाब से इस कार की कीमत लगभग 1.5 करोड़ रुपये है।

टेस्ला के मालिक एलन मस्क के पास कभी मैकेनिक को देने के लिए पैसे भी नहीं थे। उनके पास  इतने भी पैसे नहीं होते थे कि अपनी कार को मैकेनिक से ठीक करवा सकें। तमाम परेशानियों के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और खुद ही अपनी कार को रिपेयर करना शुरू किया। कार के पुर्जे खरीदने के पैसे नहीं थे तो वो पास की कबाड़ी की दुकान से पुराने पार्ट्स लाकर उनको ठीक करके कार में लगाते थे।

Source : Agency