कोरोनावायरस की दूसरी लहर बहुत तेजी से आगे बढ़ रही है. कोरोना का ये रूप बहुत ज्यादा संक्रामक है इसलिए लोग बहुत जल्दी इसकी चपेट में आ जा रहे हैं. हालत ये है कि अब लोग मौसमी बुखार या बदन दर्द जैसे लक्षण दिखने पर भी तुरंत घबरा जा रहे हैं. ये लक्षण हर बार कोरोना के नहीं हो सकते हैं लेकिन अगर आप को कोई भी संदेह है या आप खुद अंदर से सही नहीं महसूस कर रहे हैं तो आपको कोरोना का टेस्ट जरूर कराना चाहिए ताकि आप समय रहते इसका इलाज करा सकें.

तेज बुखार, लगातार कफ, खाने और सूंघने की क्षमता चले जाना कोरोनावायरस के आम लक्षण हैं. हालांकि कोरोना की इस लहर में मरीजों को पेट से जुड़ी भी कई दिक्कतें हो रही हैं. आइए जानते हैं कि सामान्य कोल्ड और फ्लू के लक्षण कोरोनावायरस से कैसे अलग हैं.

37.8C या इससे ज्यादा तापमान होने पर बुखार महसूस होता है. इस तरह का बुखार तब हो सकता है जब शरीर किसी संक्रमण से लड़ रहा हो. ये हर बार कोरोनावायरस नहीं होता है. अच्छा होगा कि आप थर्मामीटर से अपना टेंपरेचर चेक करते रहें. बुखार कोरोनावायरस का मुख्य लक्षण है लेकिन ये किसी और इंफेक्शन की वजह से भी हो सकता है.
 
अगर आपको कोल्ड या फ्लू है तो इसके साथ कफ होना सामान्य बात है. फ्लू आमतौर पर अचानक आता है और इसमें अक्सर खांसी के साथ-साथ मांसपेशियों में दर्द, ठंड लगना, सिरदर्द, थकान, नाक बहना और गले में खराश महसूस होता है. आम सर्दी-जुकाम से ज्यादा तकलीफ फ्लू में महसूस होती है.
 

आम सर्दी-जुकाम धीरे-धीरे होता है और गंभीर नहीं होता है. हालांकि इसमें भी आप स्वस्थ महसूस नहीं करते हैं. इसके साथ कफ होने पर पर आपको छीकें और गले में खराश जैसी समस्या भी हो सकती है. आम कोल्ड-कफ में मांसपेशियों में दर्द, बुखार और सिर दर्द बहुत कम होता है.
 
वहीं कोरोनावायरस के कफ में खांसी बहुत ज्यादा आती है. ये एक घंटे तक लगातार या फिर 24 घंटे में कई बार एक साथ होती है. क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज होने पर ये स्थिति और भी खराब हो जाती है. अगर आपको लगातार खांसी आ रही है तो आपको कोरोनावायरस का टेस्ट कराना चाहिए.
 
सिर्फ छींक आना कोरोनावायरस का लक्षण नहीं है जब तक कि आपको बुखार, कफ और सुगंध और स्वाद का चले जाने जैसे लक्षण महसूस ना हों. अगर आपको लगातार छींक आ रही है और आपको बुखार भी महसूस हो रहा है तो खुद को तुरंत आइसोलेट कर लें और कोरोनावायरस का टेस्ट कराएं.
 
अगर आपकी नाक बंद है या बह रही है और इसके साथ आपको कोई और लक्षण महसूस नहीं हो रहे हैं तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है. कभी-कभी मौसम में बदलाव की वजह से भी नाक बहने लगती है. ऐसे में आपको घबराने की बजाए अपने और लक्षणों पर गौर करना चाहिए. आने वाले दिनों में अगर आपको बुखार या फिर कोई और लक्षण महसूस होते हैं तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करें.
 

कोरोनावायरस के लक्षण हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकते हैं. कोरोना की ये लहर बहुत ज्यादा संक्रामक है और एक से दूसरे में बहुत तेजी से फैल रही है. ऐसे में कोई भी लक्षण के दिखने पर खुद को घर के बाकी सदस्यों से तुरंत अलग कर लें.


कुछ लोगों में कोरोना के पूरे लक्षण आने में 5 दिन से दो हफ्ते तक का समय लग जाता है. इसलिए आइसोलेट होने के बाद अपना कोरोना टेस्ट जरूर कराएं ताकि आप दूसरों को संक्रमित होने से बचा सकें. अगर आपको सांस लेने में दिक्कत जैसे लक्षण महसूस हो रहे हैं तो अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें.

 

Source : Agency