नई दिल्ली  
सोमवार 21 दिसंबर की रात बृहस्पति ग्रह और शनि दोनों ग्रह एक दूसरे के बहुत ही करीब दिखाई देंगे। यह बहुत ही बड़ी खगोलीय घटना होगी, इससे पहले ऐसा नजारा 1623 में दिखाई दिया था और अब 2080 में ऐसी घटना देखने को मिलेगी। ये दोनों ग्रह पश्चिम दिशा में दिखाई देंगे। इसके साथ ही इन दोनों के बीच सिर्फ 0.1 डिग्री की दूरी रहेगी। 
 
1. नासा की मानें तो इन दोनों ग्रहों को एक साथ हर कोई देख सकता है।

2.  दक्षिण पश्चिम दिशा में सूर्यास्त के बाद  ये एक घंटे तक एक साथ दिखाई देंगे। 

3. भारत में यह नजारा 6.30 और 7.30 बजे के आसपास देखने को मिलेगा।

4.कैसे पहचानेंगे: इसमें ज्यादा चमकीला ग्रह जूपिटर है और कम चमकीला ग्रह सैटर्न है। 

5. नेहरू तारामंडल, दिल्ली  (https://nehruplanetarium.org/) ने इस खगोलीय घटना को देखने के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू किए हुए हैं, हालांकि इस दौरान कोविड-19 गाइडलाइंस का पालान भी किया जाएगा, इनकी वेबसाइट पर भी यह नजारा देखने को मिलेगा।

 6.सौर मंडल का पांचवां ग्रह बृहस्पति है और शनि छठा ग्रह है। गुरु ग्रह 11.86 साल में सूर्य की परिक्रमा करते हैं और शनि को 29.5 साल सूर्य की परिक्रमा करते हैं। 

7.हर बार 19.6 साल में ये दोनों ग्रह करीब आते हैं, इसे ही ग्रेट कंजक्शन कहा जाता है।

8.21 दिसंबर को साल की सबसे लंबी रात भी रहेगी।

Source : Agency