पुडुचेरी 
कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में लोग बढ़चढ़कर अपना योगदान दे रहे हैं। पीएम केयर्स में भी राष्ट्रपति से लेकर खिलाड़ी, बॉलीवुड स्टार, कारोबारी और आम लोग अपनी क्षमता मुताबिक दान दे रहे हैं। बच्चे भला कहां पीछे रहने वाले। पीएम नरेंद्र मोदी की अपील पर एक ढाई साल की बच्ची ने भी अपना गुल्लक तोड़कर जमा राशि को पीएम केयर्स में जमा कराने का फैसला किया है।

तमिलनाडु के विल्लुपुरम की इस बच्ची स्पूर्ति ने ना सिर्फ यह दिखाया है कि बच्चे भी समाज को लेकर फिक्रमंद हैं, बल्कि दूसरों को प्रेरित भी किया है। स्पूर्ति अपने पिता एस. जे. रघुनाथन और मां शालिनी के साथ रहती है। रघुनाथन ऑडटिर हैं और शालिनी गृहणी। तीनों पीएम मोदी के ताजा संबोधन को टीवी पर सुन रहे थे। 
 
कोरोना वायरस को लेकर उत्पन्न परिस्थियों से यह छोटी बच्ची भी चिंतित है। उसने अपने माता-पिता से कहा कि वह भी दान करना चाहती है। बच्ची की बात से हैरान पिता ने पूछा कि वह कहां से दान करेगी? प्ले स्कूल जाने वाली स्पूर्ति झट से अपना गुल्लक ले आई। इसमें उसके माता-पिता अक्सर उसके नाम से कुछ पैसे डाल दिया करते थे। गुल्लक से 4,400 रुपये निकले।

उन्होंने इस राशि को दो हिस्सों में बांटकर एक हिस्सा पीएम केयर्स और एक हिस्सा तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलामीस्वामी को देने का फैसला किया है। रघुनाथन ने पीटीआई को फोन पर बताया कि रविवार को बच्ची ने बिना किसी झिझक यह घोषणा की कि वह यह राशि राज्य और केंद्र को देकर कोरोना के खिलाफ जंग में योगदान देना चाहती है। 

रघुनाथन ने बताया कि बच्ची एक साल की उम्र के बाद ही पैसे बचाने लगी थी। जो भी उसे पैसे देता वह गुल्लक में रख लेती थी। उन्होंने कहा कि यह राशि छोटी हो सकती है लेकिन बच्ची की इच्छा और इसके पीछे सोच बड़ी है। पीएम नरेंद्र मोदी ने पीएम केयर्स की स्थापना की है, जिसमें लोगों से दान की अपील की गई है।

Source : Agency