विद्यालय में हो रही अनिमितताओं को लेकर शिक्षकों के समय से विद्यालय चले जाने की गई शिकायत

छतरपुर

छतरपुर जिले के राजनगर विकासखंड के अंतर्गत आने वाले संकुल चंद्र नगर में आए दिन शिक्षकों की शिकायतें आ रही है कि शिक्षक विद्यालय में समय से नहीं आते हैं और समय के पहले ही विद्यालय से चले जाते हो जिससे बच्चों की शिक्षा पर गहरा संकट दिखाई दे रहा है बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है जिला पंचायत सदस्य एवं जनपद सदस्य के द्वारा ज्ञापन में बताया गया प्राचार्य एवं शिक्षक मुख्यालय ग्राम में निवासरत ना होने के कारण विद्यालय में समय पर उपस्थित नहीं होते राज्य शिक्षा केंद्र के नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है एवं अतिथि शिक्षकों की नियमावली के द्वारा मनमानी तरीके से सगे संबंधियों की नियुक्ति की गई अपात्र की भर्ती की गई जिसकी जांच होना चाहिए  अपात्र को अतिथि शिक्षक के पद से हटाना चाहिए शिक्षा व्यवस्था के शैक्षणिक कार्य में पीरियड समय से ना लगने के कारण बच्चों की शिक्षा का स्तर बिगड़ने से बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है एवं यह भी आरोप लगाया गया विद्यालय परिसर में असामाजिक तत्वों के द्वारा अतिक्रमण करने एवं अपार गंदगी  के कारण से वातावरण दूषित हो रहा है

विद्यालय के विकास के लिए आने वाली मद की राशि का दुरुपयोग करने से विद्यालयों की व्यवस्था में संबंधित संसाधनों की कमी होने के कारण पर विद्यालय में विद्यार्थियों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है संकुल अंतर्गत आने वाले कई विद्यालयों में वहां पर अतिथि शिक्षक नारा कर मनमर्जी तरीके से शिक्षकों को रखा गया जिससे शिक्षा का स्तर दिन पर दिन खराब हो रहा है कई बार शिकायतें की गई लेकिन संकुल अधिकारी की उदासीनता के चलते कोई सुधार कार्य नहीं किया गया सैकड़ों की तादात में ग्रामवासी मौजूद रहे स्थानीयो के द्वारा बताया गया की गैर जिम्मेदार अधिकारी को विद्यालय से हटा देना चाहिए क्योंकि जब संकुल प्रचार ही समय से नहीं आते हैं उनके द्वारा सुधार कराया जाना संभव ही नहीं है उनकी कार्यशैली ठीक नहीं है स्थानीय लोगों ने जिला प्रशासन से मांग की है ऐसे प्रिंसिपल को किसी और जगह पर स्थानांतरण करवा कर सही शिक्षण कार चलाने वाले जिम्मेदार अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी जाए जिससे बच्चों का भविष्य खराब ना हो और शिक्षण कार्य सही तरीके से संचालित किया जा सके

Source : Agency