किसी भी काम को करने के लिए लोग शुभ मुहूर्त देखते हैं, कई बार शुभ मुहूर्त की कमी से काम टालने पड़ जाते हैं, लेकिन इस साल ऐसी दिक्कत नहीं आने वाली है। यह साल शुभ मुहुर्तों (Shubh Muhurt 2023) से भरा हुआ है। जिसमें 93 सर्वार्थ सिद्धि योग और 20 अमृत सिद्धि योग बन रहे हैं तो वहीं चार रविपुष्य योग, एक दिन गुरु पुष्य योग रहेगा। इसके अलावा इस बार 5 जून से ही आषाढ़ माह शुरू हो जाएगा।
 आठ जनवरी, पांच फरवरी, आठ अक्टूबर और पांच नवंबर को रवि पुष्य योग रहेगा, तो वहीं 25 मई को गुरु पुष्य योग रहेगा, जिन्हें खरीदारी व नए कामों के लिए विशेष शुभ माना जाता है। मार्च व दिसंबर माह में दो-दो पुष्य नक्षत्र का योग है। वहीं इस साल में तीन सोमवती अमावस्या रहेंगी। वहीं साल में तीन ग्रहण पड़ेंगे, लेकिन इनमें से दो भारत में दृष्य नहीं होंगे और सिर्फ 28 अक्टूबर का चंद्रग्रहण ही भारत में दिखेगा।

 हर साल चार या अधिकतम पांच ही श्रावण सोमवार होते हैं, लेकिन इस बार आठ श्रावण सोमवार होंगे। इसका कारण दो श्रावण माह होना है। इससे चार जुलाई से श्रावण माह शुरु होकर 31 अगस्त तक यानी 59 दिन का रहेगा। जिसमें 18 जुलाई से 16 अगस्त तक श्रावण का अधिकमास होगा। वहीं इस बार मार्च माह में ही होली, नवरात्रि व रामनवमी के त्यौहार रहेंगे।

विवाह मुहूर्तः इस साल शुभ विवाह मुहूर्त की संख्या भी कम नहीं है। अंग्रेजी कैलेंडर के पहले महीने से ही विवाह के शुभ मुहूर्त शुरू हो जाएंगे। पहले ही महीने जनवरी में करीब नौ शुभ विवाह मुहूर्त हैं। इस तरह पूरे साल खूब शुभ मुहूर्त हैं, जिससे विवाह आदि की योजनाओं को टालना नहीं पड़ेगा और पिछले साल किसी कारण से रूके शादी विवाह के काम इस साल पूरे हो जाएंगे।

Source : Agency