नई दिल्ली 
 देश में बीते साल की ही तरह कोरोना वायरस की नई लहर डराने लगी है। रोजाना बढ़ते दैनिक आंकड़े जगह-जगह वापस लॉकडाउन की स्थिति ला रहे हैं। इसी कड़ी में अब राजधानी दिल्ली में भी जल्द नाइट कर्फ्यू लग सकता है। एक अधिकारी ने सोमवार को ये जानकारी दी। इधर, कोरोना को ही लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ जल्द समीक्षा बैठक करेंगे।

राजधानी में नाइट कर्फ्यू को लेकर बयान तब आया है जब यहां कोरोना के दैनिक मामले  3,548 पहुंच गए हैं। ये पिछले दिन के आंकड़े से थोड़ा अधिक है। पॉजिटिविटी रेट 5% बढ़ा है। डब्लूएचओ के अनुसार इस स्थिति को नियंत्रण  में माना जाता है। दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि“कोरोना के मामले बढ़ने के मद्देनजर नाइट कर्फ्यू पर विचार हो रहा है। हालांकि सरकार ने इसके लिए सही समय अभी तय नहीं किया है।"

गौरतलब है कि महाराष्ट्र और पंजाब देश के ऐसे दो राज्य हैं, जहां पिछले एक पखवाड़े से कोरोना वायरस संक्रमण के सर्वाधिक दैनिक मामले सामने आ रहे हैं। आधिकारिक दस्तावेजों से यह जानकारी मिली है। सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ कैबिनेट सचिव की बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा पेश किए गए दस्तावेजों में बताया गया कि ये दोनों राज्य उन पांच राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में शामिल हैं, जहां दैनिक मामलों की अपनी पुरानी चरम संख्या से भी अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। इन राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में चंडीगढ़, छत्तीसगढ़ और गुजरात भी शामिल है।

चिंता के बीच राहत भरी खबर यह है कि देश के 14 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे भी हैं जहां बीते 24 घंटे के अंदर कोरोना वायरस की वजह से एक भी मौत नहीं हुई है। ये राज्य हैं- ओडिशा, असम, पुडुचेरी, लद्दाख, दमन-दीव, दादर नागरहवेली, नगालैंड, मेघालय, मणिपुर, त्रिपुरा, सिक्किम, लक्ष्द्वीप, मिजोरम, अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह और अरुणाचल प्रदेश।

Source : Agency