दुबई

विश्व चैंपियन प्रमोद भगत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए दो स्वर्ण हासिल किए और उनके तथा अन्य खिलाड़ियों की बदौलत भारत ने तीसरे शेख हमदान बिन अल मकतौम दुबई पैरा बैडमिंटन इंटरनेशनल 2021 में कुल 20 पदकों के साथ अपना अभियान समाप्त किया।

कृष्णा नगर और प्रेम कुमार एले ने रविवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए संयुक्त एसएच6 और मिश्रित युगल डब्ल्युएच1-डब्ल्यूएच2 श्रेणियों में में भारत के लिए अन्य दो स्वर्ण पदक जीते।

भारत 20 पदक (4 स्वर्ण, 6 रजत और 10 कांस्य पदक) के साथ शीर्ष पर रहा। फ्रांस आठ पदकों (4 स्वर्ण, 2 रजत और 2 कांस्य) के साथ दूसरे और मलेशिया सात पदक (3 स्वर्ण, 1 रजत और 3) के साथ कांस्य जीतने में सफल रहा।

भगत ने रविवार को भारत को स्वर्णिम शुरूआत दिलाई और हमवतन नितेश कुमार को 39 मिनट में 21-17, 21-18 से हराकर सोना जीता। फिर उन्होंने मनोज सरकार के साथ मिलकर पुरुष युगल एसएल 3-एसएल 4 के फाइनल में नितेश कुमार-सुकांत कदम की जोड़ी को 21-18, 21-16 से हराया।

कृष्णा नगर को मलेशिया के 46 वर्षीय दीदीन तारेसो को 21-17, 21-18 से मात देने में सिर्फ 27 मिनट का समय लगा।

पेरू इंटरनेशनल 2020 के बाद अपना दूसरा अंतर्राष्ट्रीय स्वर्ण जीतने वाले प्रेम कुमार एले ने रूस के तातियाना गुरेवा के साथ मिलकर स्विट्जरलैंड के लुका ओलागति और कारिन सटर-एराथ को 21-11, 21-18 से हराया।

युवा पलक कोहली, अनुभवी मानसी जोशी, कदम, एली और उनके साथी अबू हुबैदा को अपने-अपने फाइनल में हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

Source : Agency