मियामी
 विश्व की नंबर एक खिलाड़ी एश्ले बार्टी ने मियामी ओपन टेनिस टूर्नामेंट के महिला सिंगल्स के फाइनल में जगह बना ली है। एश्ले बार्टी ने सीधे सेटों में जीत दर्ज करके गुरुवार को यहां मियामी ओपन के फाइनल में प्रवेश किया है। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी बार्टी ने यूक्रेन की पांचवीं वरीयता प्राप्त इलिना स्वितोलिना को 6-3, 6-3 से हराया। एश्ले बार्टी का फाइनल में सामना बियांका आंद्गेस्कू से होना है, जिन्होंने मारिया सकारी को हराया है।

विश्व रैंकिंग में अपना पहला स्थान सुनिश्चित कर चुकीं एश्ले बार्टी खिताबी मुकाबले में बियांका आंद्गेस्कू और मारिया सकारी के बीच हुए दूसरे सेमीफाइनल की विजेता बियांका आंद्गेस्कू से भिडेंगी। बियांका आंद्गेस्कू ने मारिया सकारी को 7-6, 3-6, 7-6 से हराया है। इसी के साथ मारिया सकारी का मियामी ओपन से सफर समाप्त हो गया है। पहला सेट हारने के बाद मारिया ने वापसी की, लेकिन ये वापसी फीकी ही रही।

बता दें कि मारिया सकारी ने जापान की नाओमी ओसाका का विजय अभियान रोका था, जो लगातार 23 मुकाबले जीत चुकी थीं, लेकिन इस टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल मे ंओसाका को मात मिली। हालांकि, इलिना स्वितोलिना और मारिया सकारी अब मियामी ओपन से बाहर हो गई हैं, जबकि एश्ले बार्टी और बियांका आंद्गेस्कू खिताबी जीत के लिए आमने-सामने होंगी। लंबे समय के बाद बियांका आंद्गेस्कू किसी टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची हैं, लेकिन उनके सामने दिग्गज एश्ले बार्टी हैं, जिनसे निपटना उनके लिए आसान नहीं होगा।

इस बीच, पुरुष सिंगल्स में 20 वर्षीय सेबेस्टियन कोर्डा का अभियान क्वार्टर फाइनल में थम गया। चौथी वरीयता प्राप्त आंद्गेई रुबलेव ने कोर्डा को 7-5, 7-6 से हराया। कोर्डा 2003 में रॉबी गिनेप्री के बाद मियामी के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाले सबसे युवा अमेरिकी खिलाड़ी बने थे। रुबलेव और पोलैंड के हूबर्ट हरकाज शीर्ष स्तर के एटीपी टूर्नामेंट में अपना पहला सेमीफाइनल खेलेंगे। हरकाज ने दूसरी वरीयता प्राप्त स्टेफानोस सितसिपास को 2-6, 6-3, 6-4 से पराजित किया।

Source : Agency