नई दिल्ली
आम्रपाली मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट को बताया गया कि आम्रपाली प्रोजेक्ट की फंडिंग के लिए एसबीआई 625 करोड़ रुपये रिलीज करने जा रही है। साथ ही बताया गया कि हूडको आम्रपाली प्रोजेक्ट में फंडिंग के लिए इच्छा जाहिर की है। बॉयर्स के वकील एमएल लाहोटी ने सवाल उठाया कि आखिर एक सितंबर 2020 के आदेश के बावजूद एसबीआई की तरफ से प्रोजेक्ट की फंडिंग के बारे में क्या स्टेटस है, तब कोर्ट रिसिवर ने जानकारी दी कि एसबीआई 625 करोड़ रिलीज करने जा रही है।


बॉयर्स के वकील एमएल लाहौटी ने एनबीटी को बताया कि एक सितंबर 2020 को एसबीआई कैप की ओर से सुप्रीम कोर्ट को बताया गया था कि आम्रपाली के 6 प्रोजेक्ट के लिए एसबीआई 625 करोड़ फंडिंग करेगी। एसबीआई कैप की ओर से कहा गया था कि वह सारे प्रोजेक्ट को फंडिंग नहीं करेगी बल्कि छह प्रोजेक्ट को फंडिंग करेगी। सुनवाई के दौरान एसबीआई कैप की ओर से बताया गया था कि वह आम्रपाली के छह प्रोजेक्ट के लिए फंडिंग देने को तैयार है। सिलिकन सिटी वन और टू, सेंचुरियन पार्क वन, टू और थ्री, हार्ट बीट सिटी वन और टू और क्रिस्टल होम के प्रोजेक्ट के लिए एसबीआई कैप फंडिंग करेगा। लेकिन इस दौरान ये भी दलील दी गई कि 12 फीसदी ब्याज लेगा।

लाहौटी ने कोर्ट को बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने एक सितंबर के ऑर्डर में कहा था कि चार हफ्ते में फंडिग शुरू की जाए लेकिन अभी तक न तो कोई फंडिंग स्टार्ट हो पाई है और न ही उस बारे में कोई स्टेटस के बारे में जानकारी है कि क्या हुआ। तब कोर्ट रिसिवर ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि एसबीआई कैप ने 625 करोड़ रुपये फंडिंग के मामले में दस्तावेज से संबंधित तमाम औपचारिकताएं पूरी कर ली है। कागजी कार्रवाई के तहत दस्तखत आदि हो चुके हैं और अगले हफ्ते 625 करोड़ फंड एसबीआई की ओर से प्रोजेक्ट के लिए रिलीज हो जाएंगे। वहीं हूडको ने भी आम्रपाली प्रोजेक्ट के लिए वित्तीय सहायता देने पर सहमति दिखाई है लेकिन कुछ स्पष्टीकरण मांग रही है।

सुप्रीम कोर्ट ने नोएडा, ग्रेटर नोएडा और बॉयर्स के वकील से इस पर अपना रुख स्पष्ट करने को कहा है। सुनवाई शुक्रवार को होगी। सुप्रीम कोर्ट ने 25 अगस्त 2020 को सुप्रीम कोर्ट ने एसबीआई कैप से कहा था कि वह आम्रपाली के छह प्रोजेक्ट को फंडिंग शुरू करे।

 

Source : Agency