इंदौर
डीआईजी कार्यालय पर उस समय सनसनी फैल गई, जब एयरफोर्स का पूर्व कर्मचारी ने वहां पहुंचकर कहा कि उसके बैग में बम है। वरीय अधिकारियों को जैसे ही इसकी जानकारी लगी तो लोगों ने बम स्क्वायड टीम को सूचना दी। बम स्क्वायड टीम ने जब मौके पर पहुंचकर बैग की जांच की तो उसमें कुछ नहीं निकला। उसके बाद पुलिस ने युवक को परिजनों को सौंप दिया है। इंदौर डीआईजी कार्यालय में सोमवार उस वक्त हड़कंप मच गया, जब एक युवक ऑटो से कई बैग लेकर पहुंचा। ऑटो चालक ने बताया कि युवक रेडिसन चौराहे पर सवार हुआ था। उसके बाद कहा कि हमें पलासिया थाना चलना है। यहां से वह कहा कि डीआईजी ऑफिस चलो। साथ ही उसने कहा कि इस बैग में बम है। ऑटो चालक भी इससे सहम गया और वह युवक को लेकर डीआईजी कार्यालय पहुंच गया। फिर अधिकारियों को इसकी जानकारी दी।

यूपी का रहने वाला है युवक
प्रारंभिक जांच पड़ताल में पुलिस अधिकारियों ने जब युवक से बातचीत की तो उसने बताया कि वह मूलत: उत्तर प्रदेश का रहने वाला है, लेकिन उसके पिता इंदौर में ही एक पैरा मिलिट्री फोर्स में तैनात हैं। वह पिता के साथ ही रहता है, लेकिन पिता से पिछले दिनों किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। उसी विवाद के चलते वह अपने दोस्त के घर पर जाकर रहने लगा। दोस्त के बड़े भाई पर उसने आशंका व्यक्त करते हुए कहा कि उसने बैग में बम रख दिया। इसके बाद वह बम को लेकर आला अधिकारियों के पास पहुंचा।

एयरफोर्ट का पूर्व कर्मचारी है युवक
युवक के बारे में बताया जा रहा है कि युवक पहले इंडियन एयरफोर्स में तैनात था और मेस में गिर जाने के कारण सिर के पीछे वाले हिस्से में चोट लग गई थी। जिसके कारण काफी दिनों तक वह डिस्टर्ब रहा और उसके बाद भी जब वह ठीक नहीं हुआ, तो एयर फोर्स से रिजाइन कर दिया। इसके बाद से वह मानसिक रूप से काफी परेशान है और कई बार इस तरह की हरकत कर चुका है। वहीं, परिजन उसका इलाज भी करवा रहे हैं।

Source : Agency