जबलपुर
सेना की मध्य कमान का अलंकरण समारोह आज आयोजित किया गया है. कार्यक्रम जीआरसी के पीवीसी परेड ग्राउंड पर होगा. कार्यक्रम में बहादुरी और उत्कृष्ट सेवाओं के लिए सेना के 20 जवानों को सम्मानित किया जाएगा. दो जवानों का सम्मान मरणोपरांत किया जा रहा है. जबकि, 18 जवानों को सेना पदक से सम्मानित किया जाएगा.

सेना की मध्य कमान के आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल आईएस घुमन इन जवानों को सम्मानित करेंगे. इस दौरान 11 अन्य विशिष्ट सेवाओं के लिए पदक, पेशेवर उत्कृष्टता के लिए 15 सेना इकाइयों को प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किए जाएंगे. इस मौके पर पुरस्कार पाने वालों जवानों के अलावा सेना के वरिष्ठ अधिकारी, जिले के पूर्व सैनिक उपस्थित रहेंगे.

लेफ्टिनेंट कर्नल मनोज कुमार भारद्वाज, मेजर विनायक विजय, मेजर आशुतोष तोमर, मेजर निलव सुरेंद्र, मेजर भानु प्रताप सिंह, मेजर अजय कुमार, कैप्टन पीयूष शर्मा, कैप्टन रंजीत कुमार, कैप्टन सिद्धार्थ दास, कैप्टन रमन तिवारी, हवलदार पवन, हवलदार (अब नायब सूबेदार) हरिबीर सिंह, हवलदार (अब नायब सूबेदार) सुनील सिंह, हवलदार लल्तानल्ज़ोवा, लांस हवलदार (अब हवलदार) सुमित सिंह, नायक रवि रंजन सिंह (मरणोपरांत), नायक समय लाल सिंह, नायक सुरेंद्र यादव, सिपाही रोहित कुमार यादव (मरणोपरांत), पैराट्रूपर हरि वियापक.

तीन दिन पहले ही आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे दो टूक कहा था कि चीन के साथ भारत का रिश्ता वैसा ही होगा, जैसा हम चाहेंगे. उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि ये पूर्ण रूप से सरकार की सोच है कि चीन के साथ हमारी रिश्ता उसी तरीके से विकसित होगा, जैसी हमारी इच्छा उसे विकसित करने की होगी." आर्मी चीफ ने कहा कि एक सरकार के तौर पर, एक राष्ट्र के तौर पर हमने दिखा दिया है कि जो भी समाधान हुए हैं, उसमें हमारा राष्ट्रहित सर्वोपरि है.

Source : Agency