पटना                                           
शीघ्र ही इसको लेकर सभी विभागों को आदेश जारी किया जाएगा। सभी तरह के सरकारी ठेके में चरित्र प्रमाण पत्र को अनिवार्य कर दिया गया है। अब कोई भी ठेका लेने के पहले ठेकेदार को एसपी कार्यालय से जारी किया गया चरित्र प्रमाणपत्र जमा करना होगा। तभी उन्हें ठेका दिया जाएगा। इंडिगो के स्टेशन प्रबंधक रूपेश कुमार सिंह हत्याकांड के बाद राज्य सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया है। 

मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में मुख्य रूप से ठेकेदारों को दिये जाने वाले चरित्र प्रमाणपत्र को लेकर ही बैठक हुई, जिसमें यह निर्णय लिया गया है। इस बैठक में डीजीपी एसके सिंघल और गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी भी उपस्थित थे। बैठक के बाद मुख्य सचिव ने कहा कि जितने भी तरह के सरकार के ठेके हैं, उनमें ठेकेदार को चरित्र प्रमाणपत्र अनिवार्य रूप से लेना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि चरित्र प्रमाणपत्र लेने की यह परंपरा पहले से रही है। पर, अब हमलोगों ने कहा है कि इसे पूरी सख्ती से लागू कराया जाएगा। चरित्र प्रमाण पत्र की जांच की जाएगी।  

Source : Agency