मंडला
पूरे जिले में खनिज संपदा का परिवहन करने वाले डम्परों की धमाचौकड़ी से कई लाख रूपयों की लागत से बनी कई सड़के चकनाचूर हो रही हैं। जहां देखो वहां डम्परों के माध्यम से ओवरलोड खनिज सामग्री भरकर परिवहन किया जा रहा है जिसकी वजह से मार्गों की हालत बेहद खस्ता हो गई है। जर्जर मार्गों की मरम्मत कराने के लिए भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

कुछ मार्गों में ओवरलोड खनिज सामग्री के वाहनों व अन्य वाहनों को चलने के लिए प्रतिबंधित करने के बोडऱ् लगे हैं, इसके बाद भी सरेआम ओवरलोड वाहन उन मार्गों में अधिक चल रहे हैं जहां पर इस तरह के बोर्ड संबंधित विभागों द्वारा लगाए गए। काफी लंबे समय से मंडला जिले की तहसील नैनपुर के पठार क्षेत्र के ग्रामों में लगभग सभी स्टोन क्रेशर यहां पर अवैध तरीके से चल रहे हैं। सचालकों द्वारा नियम कानून का उल्लंघन किया जा रहा है। इन्हीं स्टोन क्रेशरों से खनिज सामग्री ओवरलोड भरकर प्रतिबंधित मार्गों से भी डम्परों के माध्यम से परिवहन किया जा रहा है।

चिरईडोंगरी से सूभेवाड़ा डिठोरी मार्ग डिठोरी से परसवाड़ा देवरी खुरसीपार मार्ग, परसवाड़ा से गजना कोकीवाड़ा मार्ग बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं। ओवरलोड डम्परों ने इन सभी मार्गों को बुरी तरह कुचल दिया है। नागरिकों का आरोप है कि प्रशासनिक सांठ-गांठ की वजह से ओवरलोड डंपरों को पूरी तरह मार्गों पर चलने के रोका नहीं जा रहा है। पठार क्षेत्र में इस बात को लेकर भारी आक्रोश पनप रहा है। यदि जवाबदार शीघ्र नहीं चेते तो मामला बिगड़ सकता है। जनापेक्षा है प्रशासन इस महत्वपूर्ण विषय पर विशेष ध्यान दे।

Source : Agency