सीधी
 21वीं सदी में विज्ञान इतना विकसित हो चुका है कि हर छोटी-बड़ी समस्या चुटकियों में हल हो जाती है, लेकिन देश और प्रदेश के कई इलाकों में अभी भी अंधविश्वास चरम पर है। भूत-प्रेत और जादू-टोने के चक्कर में कई जिंदगियां तबाह हो गई हैं, लेकिन समाज के तथाकथित ठेकेदार अपनी हरकतों से बाज नहीं आते। ऐसा ही एक मामला मध्य प्रदेश के सीधी जिले से सामने आया है जहां अंधविश्वास के नाम पर लोगों ने आदिवासी महिला को जलते तवे पर नंगे पैर चलने को मजबूर कर दिया।

सीधी जिला मुख्यालय से महज 30 किलोमीटर दूर चुरहट थाना अंतर्गत कपूरी में अंधविश्वास का ऐसा मंजर दिखा जिसने क्रूरता की सारी हदें पार कर दी। आदिवासी महिला को अंधविश्वास के जाल में फंसा कर लोगों ने आग में जलते हुए तवे पर चलने को मजबूर कर दिया। महिला को यह विश्वास दिलाया गया कि ऐसा करने से उसकी सारी समस्याएं खत्म हो जाएंगी। इस दौरान वहां सैकड़ों की तादाद में जनता तमाशबीन बनी रही।

जब यह घटनाक्रम पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में आया तो उन्होंने तुरंत चुरहट थाना प्रभारी को निर्देशित कर पंडा सहित 6 लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 324 के तहत मामला दर्ज करने के आदेश दिए हैं। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि महिला के पांव में फफोले आए हैं और उसका इलाज चल रहा है। उन्होंने आम लोगों से अपील भी की है कि ऐसे ढोंगियों के चक्कर में ना आए। यदि कोई ऐसा करें तो तुरंत पुलिस को सूचित करें।हम  अंधविश्वास के सख्त खिलाफ है और लोगों से अपील करता है कि वे ऐसे लोगों के बहकावे में न आएं।

Source : Agency