पटना 
राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने गुरुवार को कोरोना संकट के बीच बिहार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार के तबादले को लेकर सरकार पर सवाल उठाए हैं। प्रदेश के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने गुरुवार को एक ट्वीट कर इशारों ही इशारों में सरकार के इस फैसले को लेकर निशाना साधा है। तेजप्रताप ने ट्वीट कर लिखा, 'सच्चे और झूठे का  'स्कोर' मैच नहीं कर रहा था, इसलिए कोच साहब ने बीच मैच में ही कैप्टन चेंज कर दिया! अमंगल तो थे ही, बेईमान भी निकले।' इस ट्वीट को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव के स्थानांतरण से जोड़कर देखा जा रहा है।

  सामान्य प्रशासन विभाग ने बुधवार को एक आदेश जारी करके संजय कुमार का तबादला अगले आदेश तक पर्यटन विभाग के मुख्य सचिव के पद पर कर दिया है। वहीं पर्यटन विभाग के मुख्य सचिव के पद पर तैनात उदय सिंह कुमावत को अगले आदेश तक स्वास्थ्य विभाग का मुख्य सचिव बनाया गया है। संजय कुमार 1990 बैच के आईएएस अफसर हैं। वहीं कुमावत 1993 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। उदय सिंह कुमावत के पास प्रधान स्वास्थ्य सचिव के अलावा बिहार लोक प्रशासन और ग्रामीण विकास संस्थान के महानिदेशक का प्रभार पहले की तरह रहेगा। वहीं जांच आयुक्त और अपर सदस्य, राजस्व पर्षद के अतिरिक्त प्रभार से उन्हें मुक्त कर दिया गया है।

बिहार के 4 आईपीएस को प्रोन्नति
बिहार कैडर के चार आईपीएस अफसरों को कनीय प्रशासनिक ग्रेड में प्रोन्नति दी गई है। बिहार पुलिस सेवा से भारतीय पुलिस सेवा में नियुक्त हुए इन अधिकारियों को अलग-अलग तारीख से इसका लाभ दिया गया है। गृह विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक प्राणतोष कुमार दास, मो अब्दुल्लाह, बिनोद कुमार और अभय कुमार लाल को कनीय प्रशासनिक ग्रेड में प्रोन्नत किया गया है। प्रोन्नति के चलते इनकी वर्तमान तैनाती प्रभावित नहीं होगी।

Source : Agency