भोपाल
कोरोना से प्रदेश की जनता को बचाने के लिए विशेष सशस्त्र बल एसएएफ की भी महत्वपूर्ण भूमिका सामने आई है। एसएएफ के तीस हजार जवान पूरे प्रदेश भर में तैनात होकर लॉक डाउन के दौरान मोर्चा संभाले हुए हैं। एसएएफ की सभी बटालियनों के जवान इन दिनों लॉक डाउन में सड़कों पर तैनात हैं।

एसएएफ के स्पेशल डीजी विजय यादव को यह आभास पहले ही हो गया था कि प्रदेश में लॉक डाउन की स्थिति बन सकती है। इसके चलते उन्होंने मार्च माह की शुरूआत में ही अपने जवानों के लिए मास्क और सेनेटाईजर जैसी आवश्यक और बचाव के सामान ले लिए थे। इसके बाद प्रदेश में रविवार को जनता कर्फ्यू लगाया गया। जिसमें एसएएफ के जवान मास्क और सेनेटाईजर के साथ सड़कों पर उतरे। इसके  बाद प्रदेश भर में लॉक डाउन हो गया।

लॉक डाउन में एसएएफ के तीस हजार जवानों को मैदान में उतारा गया है। इनको आला अफसरों ने यह भी हिदायत दी है कि वे इस दौरान सडक पर निकलने वाले व्यक्ति से अच्छे से बातचीत कर यह पूछे कि वे किस काम से बाहर निकले है, यदि वे जबरन निकले है तो ही सख्ती की जाए।

Source : Agency