रायपुर
 छत्तीसगढ़ संयुक्त प्रगतिशील कर्मचारी महासंघ ने आज (14 फरवरी) को महासम्मेलन का आयोजन कर धरना देगी. प्रदेशभर से हजारों अनियमित कर्मचारी इस महासम्मेलन में नियमितीकरण और छंटनी न करने की मांग समेत 5 सूत्रीय मांगों को लेकर बूढ़ापारा स्थित धरना स्थल में 12 बजे से आंदोलन करेंगे. मांगों और परेशानियों को देखते हुए संघ मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौपेगा.

अनियमित कर्मचारी महासंघ का कहना है कि महासम्मेलन में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वचन दिए की इस वर्ष किसानों लिए है, आगामी वर्ष कर्मचारियों का होगा. मुख्यमंत्री के वचन से हम काफी आशान्वित है, लेकिन अनियमित कर्मचारियों की छटनी ने हमारी कमर तोड़ दी है, छटनी से अनियमित साथियों में असुरक्षा, भय, रोष, असंतोष व्याप्त है और प्रशासन के इस कार्यवाही से कर्मचारियों के मन में यह सवाल पैदा होता है कि इसी तरह से छटनी जारी रहेगी तो नियमितीकरण किसकी और कैसे होगी ?

आयोजित महासम्मेलन में अनियमित कर्मचारी/अधिकारियों का नियमितीकरण, छटनी किये गए अनियमित कर्मचारी/अधिकारीयों बहाली, शासकीय सेवाओं में आउटसोर्सिंग ठेका/प्रथा को पुर्णतः समाप्त कर कर्मचारियों का समायोजन, अंशकालिक कर्मचारियों को पूर्णकालीन जाने, 15 अनियमित कर्मचारियों पर न्यायालय में चल रही मुकदमें को वापस लेने के लिए समय-सीमा में कार्यवाही किये जाने प्रस्ताव पारित किया जाएगा.

Source : Agency