पटना
बिहार में साउथ कोरिया व जापान से भी आने वाले यात्रियों के स्वास्थ्य की जांच की जाएगी। इसके पूर्व चीन, सिंगापुर, थाईलैंड, हांग-कांग से आने वाले यात्रियों की जांच की जा रही है। कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश के अनुसार सभी आवश्यक पहल की जा रही है। इस बात की जानकारी मुख्य सचिव दीपक कुमार को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बुधवार को बैठक के दौरान दी। मुख्य सचिव श्री कुमार ने बैठक में कोरोना वायरस से बचाव को लेकर किए जा रहे कार्यो व जांच की स्थिति की अद्यतन जानकारी प्राप्त की।

बैठक में नोडल अधिकारी डॉ. रागिनी मिश्र ने बताया कि काल सेंटर के 104 नंबर को डायल कर कोई भी यात्री अगर इन देशों से बिहार आया है तो वह अपने स्वास्थ्य की जानकारी दे सकता है। इसके अतिरिक्त राज्य के किसी भी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बुखार, खांसी एवं नाक बहने इत्यादि की जानकारी दे सकता है और वहां जाकर अपनी जांच करा सकता है।

जानकारी के अनुसार अबतक 26 यात्रियों की कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज के रुप में सर्विलांस पर रखा गया है। इन मरीजों के स्वास्थ्य की प्रतिदिन की रिपोर्ट ली जा रही है। बुधवार को चीन से पटना लौटी एक महिला ने सरकारी अस्पताल में पहुंच कर अपने स्वास्थ्य की जांच स्वेच्छा से करायी। उन्हें मामूली सर्दी है, इसके बावजूद उनके ब्लड सीरम का सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया गया है।

 

Source : Agency