नई दिल्ली
भारतीय फेड कप टीम इस साल की प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए दुबई जाएगी, क्योंकि आईटीएफ ने तीन से सात मार्च तक होने वाले मैचों के लिए इस शहर को नया मेजबान बनाया है। आईटीएफ ने कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण चीन के डोंगुआन शहर से मैचों को हटाकर दुबई को नया स्थल चुना। पहले एशिया/ओसनिया ग्रुप एक के ये मैच चार से आठ फरवरी तक खेले जाने थे।

आईटीएफ विज्ञप्ति के अनुसार, ''फेड कप मैच एटीपी दुबई टूर्नामेंट के खत्म होने के बाद इसी कोर्ट पर कराए जाएंगे, जिसमें छह देश - चीन, चीनी ताइपे, भारत, इंडोनेशिया, कोरिया और उज्बेकिस्तान - अप्रैल में होने वाले फेड कप प्ले-आफ में जगह बनाएंगे।''

छह टीमें फेड कप प्लेऑफ के दो स्थानों के लिए एक-दूसरे के सामने होंगी। भारतीय फेड कप कप्तान विशाल उप्पल ने पीटीआई से कहा, ''दुबई में खेलने से कोई अंतर नहीं पड़ेगा। लेकिन इससे सानिया मिर्जा को उबरने का काफी समय मिल जाएगा। युगल मुकाबला भी अहम है। अंकिता अच्छा खेल रही है। टीम के अन्य सदस्यों को भी कुछ टूर्नामेंट खेलने का मौका मिल जाएगा।''

सानिया मिर्जा की पिंडली की चोट ऑस्ट्रेलियाई ओपन के दौरान उभर गई थी, जिससे उनकी भागीदारी पर संदेह बना हुआ था। उप्पल ने कहा, ''मुझे लगता है कि हमारे पास अच्छा मौका है लेकिन हमें अपना सर्वश्रेष्ठ करना होगा और हर अंक, हर गेम, हर सेट और हर मैच के लिए कड़ी चुनौती पेश करनी होगी।''

 

Source : Agency